Jatmai Temple and Ghatarani Waterfall Gariyaband

Jatmai Temple and Ghatarani Waterfall Gariyaband is one of the major temples and tourist places of Chhattisgarh. Worshipped as forest goddess.

Jatmai Temple and Ghatarani Waterfall Gariyaband – जतमई घटारानी मन्दिर गरियाबंद  

यह स्थान छत्तीसगढ़ राज्य के गरियाबंद जिले के पांडुका क्षेत्र में स्थित है, रायपुर से लगभग 90 की.मी. की दुरी पर स्थित यह पर्यटन स्थल एवं प्राचीन माता का मन्दिर छत्तीसगढ़ का एक प्रमुख स्थान है। 
जतमई मन्दिर से लगभग 20 की.मी. के दुरी में स्थित माँ घटारानी मन्दिर एवं झरना प्राक्रतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण है। 
Jatmai Temple and Ghatarani Waterfall Gariyaband - जतमई घटारानी मन्दिर गरियाबंद
इस पहाड़ी से बहता झरना मन्दिर से लगा हुआ ही है ,भक्तगण यहाँ नहाकर माता के दर्शन कर सकते है। यह मार्ग थोडा कठिन सा है परन्तु जाया जा सकता है. यहाँ निचला और उपरी स्थान दोनों तरफ से आया जा सकता है, किन्तु उपरी ओर से आने में थोडा खतरा है। Jatmai Temple and Ghatarani Waterfall Gariyaband – जतमई घटारानी मन्दिर गरियाबंद। 
उपरी भाग से जतमई माता का मन्दिर और भी समीप है किन्तु अगर हम निचे उतरकर जाते है तो 4-5 की. मी. का अंतर होता है।  माता का मन्दिर एक गुफा नुमा है जहाँ से झरना बहुत ही समीप दिखी देता है। 
Jatmai Temple and Ghatarani Waterfall Gariyaband - जतमई घटारानी मन्दिर गरियाबंद

झरने को बहते देखने हेतु बरसात का समय उचित रहता है अन्यथा पानी की कमी की वजह से यह झरने का आनद नहीं लिया जा सकता है। यह स्थान प्रकृति से भरपूर है, विशाल काय चट्टानों की पहाड़ी एवं हरे भरे जंगल मन को मोह लेते है। Jatmai Temple and Ghatarani Waterfall Gariyaband – जतमई घटारानी मन्दिर गरियाबंद। 
इन्हें भी जरुर देखे :

Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam

Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam  – खूंटाघाट बाँध – रतनपुर बिलासपुर – The Khuntaghat Reservoir or Dam is part of a forest department which was built by the British. 
This dam is surrounded by hills and is also a picnic spot.

Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam  – खूंटाघाट बाँध – रतनपुर बिलासपुर 

फारेस्ट एरिया का एक हिस्सा है जिसका निर्माण ब्रिटिश सरकार द्वारा किया गया था।  कहा जाता है की ब्रिटिश लोग अपना कार्य दिवस समाप्ति पर यहाँ अपनी थकान मिटाने या अपने मनोरंजन के लिए आते थे, इसके लिए यहाँ उन्होंने एक सर्किट हाउस भी बनाया था, जो की पहाड़ी के ऊपर है।  यह पहाड़ी जलाशय से लगी हुयी है। 
Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam  – खूंटाघाट बाँध – रतनपुर बिलासपुर  बाँध बिलासपुर जिले का पुराना बांध है और यह जिले से लगभग 37-38 की.मी. की दुरी पर बिलासपुर अंबिकापुर राष्ट्रिय राजमार्ग से बांये हाथ में कुछ दुरी पर स्थित है। यहाँ पहुंचकर देखा जाये तो यह स्थान ऊँचा और जलाशय निचे की ओर है, निचे उतरने के लिए पहाड़ियों से चलकर जाना होता है जहाँ निचे उतरने के लिए सीढियों का निर्माण भी किया गया है। 
यहाँ प्रवेश द्वार वाहनों के लिए वर्जित है ,या यूँ कहा जा सकता है की यहाँ वाहनों की पार्किंग प्रवेश द्वार के बाहर ही की जा सकती है। विशेष अनुमति से ही वाहनों द्वारा पहाड़ियों पर भ्रमण किया जा सकता है।  चूँकि शहर से बहुत 
दूर होने की वजह से यहाँ ज्यादा खाने पिने की दुकानें नहीं नहीं है, इसलिए अपने साथ इसकी व्यवस्था खुद ही करें तो बेहतर हो सकता है। 
Khuntaghat Dam or Reservoir - Forest Dam  - खूंटाघाट बाँध - रतनपुर बिलासपुर
Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam  – खूंटाघाट बाँध – रतनपुर बिलासपुर  में  बहुत बड़ा गार्डन भी बनाया गया है जो गर्मी से हमें बहुत राहत प्रदान करती है, प्रवेश द्वार के पहले यहाँ की सजावट बहुत ही मनमोहक है। राष्ट्रीय राजमार्ग से  सीधे रोड से ना आकर अगर हम नहर के किनारे से आते है तो यह रास्ता भी बहुत मनमोहक सा लगता है, क्यूंकि इसे चारो तरफ सुसज्जित किया गया है। 
पिकनिक के दृष्टिकोण से यह जगह बहुत ही अच्छी है।  हम जब इसका भ्रमण कर रहें थे तो हमें यह देखने को मिला की यहाँ ज्यादातर प्रेमी युगल ही आतें है, हमें हर जगह प्रेमी युगल ही दिखाई दिए। परिवार के साथ आने वालों की संख्या एक या दो ही होगी। 
यहाँ प्रतिबंधित रेस्ट हाउस है जो फारेस्ट विभाग का है और यह पहाड़ी के उपरी हिस्से में बना हुआ है, जहाँ से जलाशय का नजारा बहुत ही सुंदर और मनमोहक लगता है। 

Mangatta Wildlife Park Jungle Safari

Mangatta Wildlife Park Jungle Safari – मनगट्टा पार्क  – राजनांदगाँव  – It is like a jungle safari which is built by the government, picnics and fun can be enjoyed at Mangatta Wildlife Park.

Mangatta Wildlife Park Jungle Safari – मनगट्टा पार्क  – राजनांदगाँव

एक बहुत ही बेहतरीन और मौज मस्ती की जगह है, जहाँ परिवार, दोस्तों की टोली या फिर प्रेमी जोड़े आराम से जाकर Enjoy कर सकते है। 
यह जगह दुर्ग से लगभग 25 किलोमीटर की दुरी में स्थित है, यह पेसेंजर रेलवे स्टेशन “मुढ़हिपार” से 3 किलोमीटर की दुरी में स्थित है।
छत्तीसगढ़ का शिमला-मैनपाट 
दुर्ग से राजनांदगाँव मार्ग पर स्थित “देवादा” से दाहिने हाथ से मूढ़कर जाना होता है, दुर्ग से देवादा लगभग 14 किलोमीटर और देवादा से लगभग 12 किलोमीटर पर यह बनाया गया अभ्यारण्य है।

Mangatta Wildlife Park Jungle Safari - मनगट्टा पार्क  - राजनांदगाँव

यहाँ  घुमने के लिए समय समय पर वनमंडल द्वारा जिप्सी का प्रबंध किया गया है, जो की बहुत ही उचित किराये पर उपलब्ध हो जाती है।
केंदई जलप्रपात -कोरबा 
Mangatta Wildlife Park Jungle Safari – मनगट्टा पार्क  – राजनांदगाँव  में रहने के लिए “टेंट हाउस “, ” ट्री हाउस” जैसी व्यवस्था वनमंडल द्वारा यहाँ की गई है, आज से 5-6 साल पहले इस टेंट हाउस का चार्ज 2100/- रूपये एवं ट्री हाउस 4000 रूपये पर उपलब्ध था। इस टेंट हाउस में रुकने की व्यवस्था एकदम अच्छी है जैसे मानों हम घर पर हो। ट्री हॉउस में ए.सी. उपलब्ध है।

Mangatta Wildlife Park Jungle Safari - मनगट्टा पार्क  - राजनांदगाँव

मदकू द्वीप – बिलासपुर 
Mangatta Wildlife Park Jungle Safari – मनगट्टा पार्क  – राजनांदगाँव   में रुकने के अलावा खान-पान की भी व्यवस्था है, यहाँ एक रसोई घर है जहाँ आर्डर पर सभी के लिए खाना मंगाया जा सकता है, यहाँ नॉन-वेज की भी व्यवस्था रहती है। चूँकि सोमवार के दिन यह बंद रहता है तो रविवार और मंगलवार को जाने पर हमें परेशानियों का सामना करना पद सकता है। इसलिए यहाँ जाने के लिए बुधवार से शनिवार का दिन बहुत अच्छा है।
बांगो बाँध – Bango Dam Korba

Kendai Waterfall Korba Picnic Spot

Kendai waterfall is located in Podi Upora Tehsil of Korba district, There is also a dense forest and this is a great place to have a picnic. 

Kendai Waterfall Korba Picnic Spot  – केंदई जलप्रपात

Kendai Waterfall Korba Picnic Spot  – केंदई जलप्रपात  – कोरबा अंबिकापुर मार्ग में स्थित है, यह कोरबा से चोटिया चौराहे से अंबिकापुर रोड में लगभग 40 की.मी. की दुरी में स्थित है,एवं इस रोड से हाथ से मुडकर लगभग 5 की.मी. जाने पर यह गाँव पड़ता है। 


Kendai Waterfall Korba Picnic Spot  - केंदई जलप्रपात

इस क्षेत्र में काफी घने जंगल है एवं सुनसान सा इलाका है। यह क्षेत्र साल के वृक्षों से घिरा हुआ है । यहाँ  बारिश के समय ही जाने पर इस झरने का नजारा देखा जा सकता है , क्यूंकि किसी और मौसम में यहाँ जो नदी है उसमें पानी की कमी रहती है । 
Kendai Waterfall Korba Picnic Spot  - केंदई जलप्रपात


Kendai Waterfall Korba Picnic Spot  – केंदई जलप्रपात छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है।  यह एक आकर्षक पिकनिक स्थल है किन्तु घने जंगल एवं सुनसान होने के कारण यहाँ 4-5  लोगो को एक साथ जाना सही रहेगा । 
इस जगह पर्यटकों के लिए किसी भी चीजो की व्यवस्था नहीं है ( Feb 2019) , इसलिए जब भी जाना हो अपने साथ पानी और खाने की चीजे लेकर जाये ।