Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam

Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam  – खूंटाघाट बाँध – रतनपुर बिलासपुर – The Khuntaghat Reservoir or Dam is part of a forest department which was built by the British. 
This dam is surrounded by hills and is also a picnic spot.

Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam  – खूंटाघाट बाँध – रतनपुर बिलासपुर 

फारेस्ट एरिया का एक हिस्सा है जिसका निर्माण ब्रिटिश सरकार द्वारा किया गया था।  कहा जाता है की ब्रिटिश लोग अपना कार्य दिवस समाप्ति पर यहाँ अपनी थकान मिटाने या अपने मनोरंजन के लिए आते थे, इसके लिए यहाँ उन्होंने एक सर्किट हाउस भी बनाया था, जो की पहाड़ी के ऊपर है।  यह पहाड़ी जलाशय से लगी हुयी है। 
Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam  – खूंटाघाट बाँध – रतनपुर बिलासपुर  बाँध बिलासपुर जिले का पुराना बांध है और यह जिले से लगभग 37-38 की.मी. की दुरी पर बिलासपुर अंबिकापुर राष्ट्रिय राजमार्ग से बांये हाथ में कुछ दुरी पर स्थित है। यहाँ पहुंचकर देखा जाये तो यह स्थान ऊँचा और जलाशय निचे की ओर है, निचे उतरने के लिए पहाड़ियों से चलकर जाना होता है जहाँ निचे उतरने के लिए सीढियों का निर्माण भी किया गया है। 
यहाँ प्रवेश द्वार वाहनों के लिए वर्जित है ,या यूँ कहा जा सकता है की यहाँ वाहनों की पार्किंग प्रवेश द्वार के बाहर ही की जा सकती है। विशेष अनुमति से ही वाहनों द्वारा पहाड़ियों पर भ्रमण किया जा सकता है।  चूँकि शहर से बहुत 
दूर होने की वजह से यहाँ ज्यादा खाने पिने की दुकानें नहीं नहीं है, इसलिए अपने साथ इसकी व्यवस्था खुद ही करें तो बेहतर हो सकता है। 
Khuntaghat Dam or Reservoir - Forest Dam  - खूंटाघाट बाँध - रतनपुर बिलासपुर
Khuntaghat Dam or Reservoir – Forest Dam  – खूंटाघाट बाँध – रतनपुर बिलासपुर  में  बहुत बड़ा गार्डन भी बनाया गया है जो गर्मी से हमें बहुत राहत प्रदान करती है, प्रवेश द्वार के पहले यहाँ की सजावट बहुत ही मनमोहक है। राष्ट्रीय राजमार्ग से  सीधे रोड से ना आकर अगर हम नहर के किनारे से आते है तो यह रास्ता भी बहुत मनमोहक सा लगता है, क्यूंकि इसे चारो तरफ सुसज्जित किया गया है। 
पिकनिक के दृष्टिकोण से यह जगह बहुत ही अच्छी है।  हम जब इसका भ्रमण कर रहें थे तो हमें यह देखने को मिला की यहाँ ज्यादातर प्रेमी युगल ही आतें है, हमें हर जगह प्रेमी युगल ही दिखाई दिए। परिवार के साथ आने वालों की संख्या एक या दो ही होगी। 
यहाँ प्रतिबंधित रेस्ट हाउस है जो फारेस्ट विभाग का है और यह पहाड़ी के उपरी हिस्से में बना हुआ है, जहाँ से जलाशय का नजारा बहुत ही सुंदर और मनमोहक लगता है। 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s